मंगल ग्रह पर मिलीं लाल ईंटों से बनेगा इंसान का आशियाना

मंगल ग्रह पर मिलीं लाल ईंटों से इंसान का आशियाना बनेगा। वैज्ञानिकों ने इस ग्रह पर लाल ईंटों की तरह के टुकड़ों का पता लगाया है। ये टुकड़े काफी मजबूत भी हैं। एक नए शोध में वैज्ञानिकों ने इसकी जानकारी दी है।

नए अध्ययन के अनुसार मंगल ग्रह पर घर बनाने के लिए किसी अतिरिक्त सामान की जरूरत नहीं पड़ेगी, क्योंकि मंगल ग्रह पर पहले से ही घर बनाने का सामान मौजूद है। वहां पर लाल ईंटों की तरह के टुकड़ों के साथ लाल बजरी भी है, जिससे सरिया और सीमेंट से भी ज्यादा मजबूत घर बनेगा। खास बात यह है कि इन लाल ठोस टुकड़ों  को पकाने की भी जरूरत नहीं है। ये पहले से ही इतने कठोर हैं।  सैन डिएगो की कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर यू कियाओ ने कहा कि जो लोग मंगल ग्रह पर जाएंगे वे अविश्वसनीय रूप से बहादुर होंगे। वे खोजकर्ता होंगे और मैं उन्हें ये ईंट देकर सम्मानित महसूस करूंगा।

वैज्ञानिक का कहना है कि जब भी कभी अंतरिक्ष उड़ान की बात आती है, तो सबसे पहले वजन की गणना की जाती है। अंतरिक्षयात्रियों को न्यूनतम वजन ले जाने के लिए कहा जाता है। इस शोध के बाद मंगल ग्रह जाने पर अंतरिक्ष यात्रियों को कई टन सामान ले जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी, क्योंकि वहां पर घर बनाने का सामान पहले से ही मौजूद है। हालांकि यह काफी महंगा होगा। वैज्ञानिकों का कहना है कि लाल ग्रह पर मिलने वाली सीमेंट और कैल्शियम कार्बोनेट समुद्री जीवों के जीवाश्म अवशेषों से बने हैं। लाल ग्रह को इससे वंचित होना पड़ेगा।

ग्रह पर मानव मिशन के निवास के लिए मंगल ग्रह की मिट्टी का उपयोग करने का प्रस्ताव नया नहीं है। लेकिन यह पहली बार बताया जा रहा है कि अंतरिक्ष को न्यूनतम सामान की जरूरत होती है। ऐसे में इस शोध का महत्व और बढ़ जाता है। नासा से वित्त पोषित प्रो. कियाओ ने कहा, ग्रह पर मानव के स्थायी निवास के लिए संसाधनों की जरूरत पड़ेगी और इस अध्ययन से मानव मिशन में काफी मदद मिलेगी।

मंगल ग्रह की मिट्टी से उगाई जा चुकी हैं सब्जियां 
मंगल ग्रह की मिट्टी से वैज्ञानिक कई सब्जियां उगा चुके हैं। एक साल पहले डच वैज्ञानिकों ने टमाटर, मटर, राई, गोभी और मूली को सफलतापूर्वक विकसित करने के लिए सिम्युटेड मंग्रल ग्रह की मिट्टी का इस्तेमाल किया था। इस मिट्टी से और भी फसलें उगाने पर वैज्ञानिक शोध कर रहे हैं।

मंगल से मिलीं कुछ तस्वीरों से पेड़-पौधे होने का दावा किया था
कुछ दिन पहले नासा ने एक तस्वीर जारी की थी, जिसमें एक वृक्ष जैसी कुछ आकृति दिखाई दे रही थी। वैज्ञानिकों का दावा था कि मंगल पर पहले जंगल हुआ करता था। इस तस्वीर में पेड़ का तना भी दिखाई दे रहा था।

ग्रह पर एलियन का भी किया था दावा
करीब 15 दिन पहले यूट्यूबर क्रूसिबल ने एक वीडियो पोस्ट किया था। इस वीडियो में मंगल ग्रह पर कुछ अजीब से निशान दिखाई दे रहे थे। इसके साथ ही नासा की एक रिसर्च में मंगल ग्रह पर कुछ निशान पाए गए थे। माना जा रहा था कि ये निशान एलियन के हो सकते हैं। लेकिन यह पूरी तरह से दावा नहीं कर किया गया था। इससे पहले भी नासा मंगल ग्रह पर एलियन और उसके मकान दिखने का दावा कर चुका हैं।

Recommended For You

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *